Tuesday, July 25, 2017

Ishwar Chandra Vidyasagar, Women’s Education and Empowerment: An Overview by Dr. Ravindra Kumar in Business Economics, Kolkata (India), July 16-31, 2017




Wednesday, July 19, 2017

Dr. Ravindra Kumar: Value Education for Ethics and Global Peace in Global Peace International Journal, Special Issue-6, July, 2017




Hinduism –The Sanatana Dharma by Dr. Ravindra Kumar in Global Peace International Journal, Special Issue-6, July, 2017



Saturday, June 24, 2017

हिन्दी प्रचार-प्रसार संस्थान, जयपुर का आभार –रवीन्द्र कुमार

हिन्दी प्रचार-प्रसार संस्थान, जयपुर (राजस्थान) द्वारा अपनी पत्रिका हिन्दी ज्योति बिम्ब (जून, 2017) के माध्यम से राष्ट्रभाषा प्रेमी के रूप में दिए गए सम्मान हेतु प्रचार-प्रसार संस्थान का हृदय से आभार –रवीन्द्र कुमार

Sunday, June 4, 2017

विश्व पर्यावरण दिवस –डॉ0 रवीन्द्र कुमार




विश्व पर्यावरण दिवस
प्रकृति से अनावश्यक छेड़छाड़ और प्राकृतिक संसाधनों का दुरुपयोग हिंसा है I हिंसा का परिणाम विनाश है I प्राकृतिक संसाधनों का जिस प्रकार अनावश्यक दोहन किया जा रहा है, प्रकृति से निरन्तर छेड़छाड़ की जा रही है, उसका परिणाम सामने है –प्राकृतिक संसाधनों की पहुँच से हम दृश्य-अदृश्य दूर होते जा रहे हैं; वैश्विक तापन पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व पर प्रश्नचिह्न लगा रहा है I इस स्थिति में हमारे सामने व्यक्तिगत और सामूहिक, दोनों रूपों में, गंभीरतापूर्वक सोचने और प्रकृति व प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण हेतु अविलम्ब प्रतिबद्ध होने के अतिरिक्त और कोई विकल्प नहीं है I 

Tuesday, May 30, 2017

मूल्यपरक पत्रकारिता के सिद्धांत -डॉ0 रवीन्द्र कुमार

निर्भीकता, ईमानदारी, कर्तव्यपरायणता, सद्भावना और सत्यता ही मूल्यपरक पत्रकारिता के सिद्धांत हैं...डॉ0 रवीन्द्र कुमार का हिन्दी पत्रकारिता-दिवस के उपलक्ष्य में आर0के0वी0 फाउंडेशन द्वारा मेरठ में 30 मई, 2017 को आयोजित कार्यक्रम में स्वागत एवं सम्बोधन...



Tuesday, May 9, 2017

बुद्धपूर्णिमा –डॉ0 रवीन्द्र कुमार





बुद्धपूर्णिमा –एशिया के महाप्रकाश शाक्यमुनि गौतम भारतभूमि पर अवतरित हुए, इसी दिन उन्हें महाज्ञान-प्राप्ति हुई और उनका महापरिनिर्वाण भी, इसलिए समस्त भारतवासियों के लिए गर्व का दिन I साथ ही, गौतम बुद्ध द्वारा प्रदत्त अतिव्यापक वैचारिक दृष्टिकोण पर, जो जीवन की सत्यमयी व्याख्या करने के साथ ही उसकी सार्थकता का मार्ग दिखाता हैं, विचार करने एवं उसके स्वयं अनुसरण के साथ ही सम्पूर्ण विश्व तक उसे ले जाने हेतु प्रतिबद्ध होने का शुभदिवस I