Saturday, June 24, 2017

हिन्दी प्रचार-प्रसार संस्थान, जयपुर का आभार –रवीन्द्र कुमार

हिन्दी प्रचार-प्रसार संस्थान, जयपुर (राजस्थान) द्वारा अपनी पत्रिका हिन्दी ज्योति बिम्ब (जून, 2017) के माध्यम से राष्ट्रभाषा प्रेमी के रूप में दिए गए सम्मान हेतु प्रचार-प्रसार संस्थान का हृदय से आभार –रवीन्द्र कुमार

Tuesday, June 6, 2017

Value Education for Ethics and Global Peace –Dr. Ravindra Kumar in South Asia Politics, New Delhi, June, 2017





Sunday, June 4, 2017

विश्व पर्यावरण दिवस –डॉ0 रवीन्द्र कुमार




विश्व पर्यावरण दिवस
प्रकृति से अनावश्यक छेड़छाड़ और प्राकृतिक संसाधनों का दुरुपयोग हिंसा है I हिंसा का परिणाम विनाश है I प्राकृतिक संसाधनों का जिस प्रकार अनावश्यक दोहन किया जा रहा है, प्रकृति से निरन्तर छेड़छाड़ की जा रही है, उसका परिणाम सामने है –प्राकृतिक संसाधनों की पहुँच से हम दृश्य-अदृश्य दूर होते जा रहे हैं; वैश्विक तापन पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व पर प्रश्नचिह्न लगा रहा है I इस स्थिति में हमारे सामने व्यक्तिगत और सामूहिक, दोनों रूपों में, गंभीरतापूर्वक सोचने और प्रकृति व प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण हेतु अविलम्ब प्रतिबद्ध होने के अतिरिक्त और कोई विकल्प नहीं है I